कहीं Mahesh Babu ने इसलिए तो नहीं किया बॉलीवुड से तौबा? आप भी जानें वजह

महेश बाबू अपने एक बयान दिया है, जिससे वह दोबारा चर्चा में आ गए हैं. मीडिया संग बातचीत में उन्होंने कहा कि हिंदी फिल्म इंडस्ट्री उन्हें अफॉर्ड नहीं कर सकती है. तो चलिए जानते हैं कि आखिर महेश बाबू ने ऐसा क्यों कहा.

साउथ एक्टर महेश बाबू अक्सर अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहते हैं. महेश बाबू अपने एक बयान दिया है, जिससे वह दोबारा चर्चा में आ गए हैं. एक्टर ने हाल ही में अदिवि शेष की फिल्म मेजर के ट्रेलर लॉन्च के दौरान अपने बॉलीवुड डेब्यू को लेकर अपनी राय बताई.

मीडिया संग बातचीत में उन्होंने कहा कि हिंदी फिल्म इंडस्ट्री उन्हें अफॉर्ड नहीं कर सकती है, इसलिए वो हिंदी फिल्म में काम करके अपना टाइम बर्बाद नहीं करेंगे.

अब महेश बाबू का ये बयान कई लोगों को खटक भी रहा है.आखिर एक्टर ने तीखा कमेंट जो किया है. चलिए ये तो महेश बाबू की अपनी मर्जी है कि वो हिंदी फिल्मों में आना चाहते हैं या नहीं

लेकिन बॉलीवुड पर कटाक्ष करना क्यों? आजतक के मुताबिक, चलिए जानते हैं कि महेश बाबू बॉलीवुड में काम क्यों नहीं करना चाहते हैं.

जब कोई एक्टर किसी इंडस्ट्री का बड़ा नाम, चेहरा होता है तो दूसरी इंडस्ट्री में उसे वही सक्सेस मिलने की कोई गारंटी नहीं दे सकता. ये बहुत बड़ा रिस्क है जिसे कम ही एक्टर्स लेते हैं. महेश बाबू भी इनमें से एक लगते हैं. कई साउथ एक्टर्स ऐसे रहे हैं जो बॉलीवुड में फ्लॉप हो गए. महेश बाबू को भी क्या पता डर हो कि बॉलीवुड में फ्लॉप हुए तो साख को झटका लगेगा.

मान लीजिए महेश बाबू ने बॉलीवुड डेब्यू कर भी लिया और फिल्म नहीं चली तो. फिल्म फ्लॉप होने पर इतने बड़े सुपरस्टार के स्टारडम पर असर होना लाजमी है.इतने बड़े रिस्क के बाद इस कदर हार का मुंह देखना, हर कोई इसे नहीं ले पाता है.

बॉलीवुड ग्रैंड है. यहां एक से बढ़कर एक सितारे हैं जो कतार में बैठे हैं. ऐसे में हर किसी को बेंचमार्क सेट करने वाले रोल्स मिलना मुश्किल है. जैसा कि महेश बाबू ने कहा कि उन्हें कई हिंदी फिल्मों के ऑफर मिले लेकिन उन्होंने हामी नहीं भरी. ऑफर ठुकराने की बड़ी वजह एक्टर को उनकी पसंद के रोल ना मिलना होगा.

THANK YOU